एक साथ 83 सेटेलाइट्स को लॉन्च कर विश्व रिकॉर्ड बनाने में जुटा इसरो

  • 2016-10-29 17:58:00

नई दिल्ली। भारत को कई बार गौरवान्वित कराने वाला भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) एक अनोखे मिशन की तैयारी कर रहा है। इस मिशन के कामयाब होने पर इसरो दुनिया भर में इतिहास बना सकता है। इसरो इस मिशन के जरिए एक बार में 82 सेटेलाइट्स लॉन्च करने की तैयारी कर रहा है। इन सेटेलाइट्स में दो भारतीय और बाकी दूसरे देशों की होंगी। इसरो के मार्स ऑर्बिटर मिशन के प्रॉजेक्ट डायरेक्टर सुब्बियाह अरुणन ने कहा कि यदि सब कुछ सही रहा तो इसरो 15 जनवरी, 2017 को एक ही बार में 82 विदेशी सेटेलाइट्स को लॉन्च कर विश्व रेकॉर्ड कायम करेगा। अरुणन ने मुंबई में ब्रैंड इंडिया समिट के दौरान यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि इन 82 में से 60 अमेरिकी, 20 यूरोप के और 2 ब्रिटेन के सेटेलाइट्स शामिल होंगे। अब तक एक ही बार में सबसे ज्यादा सेटेलाइट्स लॉन्च करने का रेकॉर्ड रूस की स्पेस एजेंसी के पास है। रूसी एजेंसी ने 19 जून, 2014 को एक ही बार में 37 सेटेलाइट्स लॉन्च किए थे। इसके अलावा 19 नवंबर, 2013 को अमेरिका ने एक साथ 29 सेटेलाइट्स लॉन्च किए थे। इसी साल 22 जून को इसरो ने ही एक साथ 20 सेटेलाइट लॉन्च किए थे। यदि यह मिशन सफल होता है तो भारतीय एजेंसी करीब ढाई साल के भीतर दूसरी बार वर्ल्ड रेकॉर्ड तोड़ने में सफल होगी। इस अभियान के लिए इसरो अपने सबसे भरोसेमंद रॉकेट पीएसएलवी (पोलर सेटेलाइट लांच व्हीकल) के एक्सएल संस्करण को इस्तेमाल करेगा। सभी 82 सेटेलाइट को लॉन्च के 20 से 25 मिनट के बाद एक ही कक्षा में स्थापित करा दिया जाएगा। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) अगले साल चांद पर दूसरा मिशन चंद्रयान-2 भी भेजने जा रहा है। चंद्रयान-2 के साथ इसरो एक टेलीस्कोप भी भेजने की योजना बना रहा है। अगर योजना कामयाब हो गई तो पृथ्वी से 3,84,400 किलोमीटर दूर चांद पर होगी भारत की तीसरी आंख जो अंतरिक्ष में नई खोज में मदद देगी। इससे पहले 24 सितंबर, 2014 को इसरो ने पहले ही प्रयास में मंगलयान भेजने में सफलता पाई थी।